Monday, June 27, 2022
Home Top Stories Maharashtra Crisis: पिता बाल ठाकरे की राह पर चले उद्धव, मातोश्री पहुंच...

Maharashtra Crisis: पिता बाल ठाकरे की राह पर चले उद्धव, मातोश्री पहुंच खेला 3 दशक पुराना कार्ड


मुख्यमंत्री पद छोड़ने की पेशकश करने के कुछ ही घंटों बाद महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने बुधवार रात दक्षिण मुंबई स्थित अपना आधिकारिक आवास खाली कर दिया और बांद्रा स्थित अपने निजी आवास चले गए। ठाकरे मुख्यमंत्री के आधिकारिक आवास ‘वर्षा’ को खाली करके ठाकरे परिवार के निजी आवास ‘मातोश्री’ चले गए। उद्धव के इस कदम को इमोशनल कार्ड के रूप में देखा जा रहा है। गौरतलब है कि शिंदे द्वारा दो दिन पहले बगावत किए जाने और बागी विधायकों के तेवर में कोई नरमी नहीं आने के बीच ठाकरे ने यह कदम उठाया है।

तीन दशक पहले शिवसेना में उठे थे बगावती सुर

लगभग दो दशक पहले, जुलाई 1992 में, शिवसेना के भीतर उसकी कार्यशैली को लेकर इसी तरह की बगावत देखने को मिली थी। तब शिवसेना सुप्रीमो बाल ठाकरे ने सार्वजनिक रूप से पार्टी से इस्तीफा देने और पार्टी से संबंध तोड़ने की पेशकश करके कई लोगों को चौंका दिया था। बाल ठाकरे ने पार्टी के मुखपत्र सामना में लिखा था, “अगर एक भी शिवसैनिक मेरे और मेरे परिवार के खिलाफ खड़ा होकर कहता है कि मैंने आपकी वजह से शिवसेना छोड़ी या आपने हमें चोट पहुंचाई, तो मैं एक पल के लिए भी शिवसेना प्रमुख के रूप में बने रहने के लिए तैयार नहीं हूं।” 

इस्तीफे से पहले उद्धव ठाकरे ने परिवार समेत सरकारी आवास छोड़ा, ‘वर्षा’ छोड़ ‘मातोश्री’ पहुंचे महाराष्ट्र सीएम

…..फिर कभी नहीं हुई शिवसेना में बगावत

उनके इस लेख ने महाराष्ट्र की राजनीति में बड़ा असर दिखाया था। लाखों की संख्या में शिवसैनिक बाल ठाकरे के समर्थन में रैलियां निकालने लगे थे। यही नहीं, बाल ठाकरे के उस कदम ने सुनिश्चित किया कि 20 साल बाद उनकी मृत्यु तक उन्हें इस तरह के विद्रोह का सामना नहीं करना पड़ा। अब, उस भाषण के तीन दशक बाद, जूनियर ठाकरे भी उसी मौड़ पर वापस आते दिख रहे हैं। उद्धव ने बुधवार को कहा कि उन्होंने कभी कुर्सी या पद या सत्ता की लालस नहीं रखी और अगर किसी शिवसैनिक ने उनके पद छोड़ने को कहा तो इसे छोड़ने को तैयार हैं।

संकट में उद्धव ठाकरे का इमोशनल कार्ड- लकड़ी की कुल्हाड़ी ही पेड़ काटती है, सामने आकर बोलें तो इस्तीफा देने का तैयार

उद्धव बोले- बागी आकर खुद ले जाएं मेरा इस्तीफा

उन्होंने राज्य के लोगों तक पहुंचने के लिए बुधवार को फेसबुक का इस्तेमाल किया और लाइव संबोधन के जरिए अपनी बात रखी। जब अटकलें लगाई जा रही थीं कि वह मुख्यमंत्री के रूप में वे अपने इस्तीफे की घोषणा करेंगे, तब उद्धव ने शिवसेना के बागी विधायकों को चुनौती देते हुए कहा कि वे खुद आएं और उनका इस्तीफा लेकर राजभवन जाएं। उन्होंने बागियों से वफादारी का आह्वान करते हुए कहा कि अगर वे उन्हें आमने-सामने आकर पद छोड़ने के लिए कहते हैं तो वे छोड़ देंगे। 

मैं सीएम पद का लालची नहीं- ठाकरे

उद्धव ठाकरे ने इस बात का भी जिक्र किया कि उनकी पार्टी के विधायकों शिकायत है कि सरकार और पार्टी दोनों पर ठाकरे परिवार का कुल नियंत्रण है। इस पर उद्धव ने खुद को एक ऐसे व्यक्ति के रूप में पेश किया जो कभी सीएम पद का इच्छुक नहीं था। ठाकरे ने नवंबर 2019 की घटनाओं का जिक्र करते हुए कहा कि उन्होंने राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी अध्यक्ष शरद पवार के सुझाव पर अपनी अनुभवहीनता के बावजूद मुख्यमंत्री का पद संभाला। उन्होंने कहा कि कांग्रेस और राकांपा के कई दशकों तक शिवसेना के राजनीतिक विरोधी होने के बावजूद महा गठबंधन अस्तित्व में आया। बाल ठाकरे के समय में महाराष्ट्र की सत्ता की चाभी मातोश्री में रहती थी। उद्धव से पहले कोई भी ठाकरे परिवार का व्यक्ति राजनीतिक पदों पर असीन नहीं रहा था। लेकिन उन्होंने अपने पिता के विपरीत आधिकारिक तौर पर सार्वजनिक पद संभाला। 

अप्राकृतिक गठबंधन से बाहर निकलना जरूरी, शिवसेना का किया जा रहा गबन; उद्धव ठाकरे की अपील पर बोले एकनाथ शिंदे

अब जब उद्धव ठाकरे ने अपना सरकारी आवास खाली कर दिया है तो ऐसे में कई कयासों की दौर भी शुरू हो चुका है। अपने इस कदम से उद्धव ठाकरे समर्थकों और विधायकों को सांकेतिक इशारा दे रहे हैं कि उन्हें मुख्यमंत्री पद की लालसा नहीं है। फेसबुक लाइव में महाराष्ट्र की जनता के नाम संदेश जारी कर उद्धव ने यह भी कहा था कि वह सीएम आवास तक छोड़ने को तैयार हैं और उन्हें किसी पद की लालसा नहीं है। 

अब शिवसेना प्रमुख उम्मीद कर रहे होंगे कि यह भावनात्मक संबोधन उन सैनिकों के साथ तालमेल बिठाएगा जो पार्टी की तरह ठाकरे परिवार की शपथ लेते हैं। शिवसेना नेता पिछले दो दिनों से दोहरा रहे हैं कि अतीत में इस तरह के हर विद्रोह के बाद पार्टी मजबूत हुई है।



Source link

RELATED ARTICLES

IIT JAM Admit Card 2022 Exam Date, Hall Ticket Release date

IIT JAM Admit card 2022 Exam date, Hall ticket Release date will be discussed here. The Joint Entrance Examination for Masters, or JAM...

UPSC Civil Service Mains Result 2021 Cut off Marks Release Date

UPSC Civil Service mains result 2021 cut off marks release date will be discussed here. In June 2021, the Union Public Service Commission...

Tom Brady Net Worth, Biography, Career, Family, Physique

Tom Brady Net Worth, Biography, Career, Family, Physique will be discussed here. The NFL considers Brady, the best quarterback of all time for...

Thanks to Support using this Blog site.

Most Popular

पायलट पर गहलोत के बयान ने मचाई राजस्थान की सियासत में उथल-पुथल, क्या हैं इसके मायने?

जयपुर. राजस्थान के सियासी गलियारों में एक बार फिर से हलचल है. सीएम अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) की ओर से शनिवार को सीकर...

IIT JAM Admit Card 2022 Exam Date, Hall Ticket Release date

IIT JAM Admit card 2022 Exam date, Hall ticket Release date will be discussed here. The Joint Entrance Examination for Masters, or JAM...

सना खान से इंस्पायर होकर शोबिज छोड़ने से हिजाब में वर्कआउट करने तक, डालिए महजबी सिद्दीकी पर एक नजर

‘बिग बॉस 11’ से बाहर निकलने के बाद अपने वेस्टर्न लुक से सबको चौंका देने वाली महजबी सिद्दीकी (Mehjabi Siddiqui) ने इस साल...

Bihar Weather Updates: बिहार के कुछ हिस्‍सों में भारी से बहुत भारी बारिश के आसार, गंडक नदी का बढ़ा जलस्‍तर

पटना. बिहार में दक्षिण-पश्चिम मानसून की सक्रियता को लेकर भारतीय मौसम विभाग ने ताजा अपडेट जारी किया है. IMD की ओर से जारी...

Recent Comments