fbpx
Sunday, July 3, 2022
Home Top Stories एकनाथ शिंदे अपनी शर्त पर अड़े, बागी विधायकों को गुवाहाटी ले जाने...

एकनाथ शिंदे अपनी शर्त पर अड़े, बागी विधायकों को गुवाहाटी ले जाने की तैयारी


Image Source : FILE
Eknath Shinde

Highlights

  • एकनाथ शिंदे सहित 33 विधायक एक साथ गुवाहाटी जाएंगे
  • सूरत एयरपोर्ट पर स्पाइस जेट की फ्लाइट पहुंच चुकी है
  • उद्धव ठाकरे और शिंदे के बीच फोन पर हुई थी बातचीत

Maharashtra Political Crisis: महाराष्‍ट्र की उद्धव ठाकरे सरकार पर संकट मंडरा रहा है। शिवसेना के मंत्री एकनाथ शिंदे के साथ पार्टी के करीब 35 विधायकों ने बागी तेवर अपना लिया है। शिंदे उन बागी नेताओं के साथ गुजरात के सूरत के ली मेरेडियन होटल में डेरा डाल रखा था। अब शिवसेना के उन बागी विधायकों को वहां से गुवाहाटी ले जाया रहा है। 

सूरत से एकनाथ शिंदे के साथ इक्कठे विधायक गुवाहाटी जाएंगे। सूरत एयरपोर्ट पर हलचल तेज हो गई है। एयरपोर्ट पर स्पाइस जेट की फ्लाइट पहुंच चुकी है। एकनाथ शिंदे सहित करीब 33 विधायक एक साथ जाएंगे। वहीं, दो विधायक अलग से गुवाहाटी पहुंचेंग। वहीं, ये भी कहा जा रहा है कि बीजेपी के विधायकों को भी शिफ्ट किया जा सकता है। 

शिंदे को मनाने की कोशिश, उद्धव ठाकरे ने की थी फोन पर बात

शिंदे के बागी तेवर को देखते हुए शिवसेना ने उन्हें विधायक दल के नेता के पद से हटा दिया है। इस बीच, उन्हें मनाने की भी कोशिश की जा रही है। सीएम उद्धव ठाकरे और एकनाथ शिंदे के बीच फोन पर करीब 20 मिनट तक बात हुई। इस दौरान शिंदे ने बीजेपी के साथ समझौता करने की बात कही। सीएम ठाकरे ने उन्हें मुंबई वापस आने और बात करने पर मनाया। हालांकि, शिंदे इस पर विचार करने के लिए अपने रुख पर अडिग हैं। सीएम ठाकरे से फोन पर बातचीत के दौरान शिंदे ने स्पष्ट किया कि वह अभी भी किसी निष्कर्ष पर नहीं पहुंचे हैं, ना ही उन्होंने किसी दस्तावेज पर हस्ताक्षर किए हैं।

 शिंदे और उनके समर्थक विधायक सोमवार देर रात सूरत के होटल पहुंचे थे

गौरतलब है कि महाराष्ट्र में विधानसभा परिषद चुनाव के नतीजे आने के कुछ घंटे बाद ही एकनाथ शिंदे और उनके समर्थक विधायक सोमवार देर रात सूरत के होटल पहुंचे थे। विधान परिषद की 10 सीटों के लिए हुए चुनाव में बीजेपी ने सभी पांच सीटों पर जीत हासिल की। हालांकि, बीजेपी के पास चार उम्मीदवारों को जिताने के लिए वोट थे। एनसीपी और शिवसेना ने दो-दो सीटों पर जीत हासिल की थी। एमवीए के एक अन्य सहयोगी कांग्रेस को झटका लगा, क्योंकि पार्टी के एक एमएलसी उम्मीदवार बीजेपी के 5वें उम्मीदवार से हार गए थे।





Source link

RELATED ARTICLES

Thanks to Support using this Blog site.

Most Popular

पुलित्जर पुरस्कार से सम्मानित कश्मीरी फोटो पत्रकार को विदेश जाने से रोका गया

सना इरशाद मट्टू एक पुस्तक विमोचन कार्यक्रम में शामिल होने और फोटोग्राफी प्रदर्शनी में भाग लेने के लिए पेरिस जा रही थीं, तभी...

A Guide To Social Media Algorithms & How They Work

Why do so many marketers keep asking, “How do social media algorithms work?” Because the algorithms for the major platforms can change quickly. But,...

रणबीर कपूर की इस फिल्म ने तोड़ दिया था उनका दिल, निभाया था सरदार का रोल

रणबीर कपूर (Ranbir Kapoor) इन दिनों अपनी अगली फिल्म शमशेरा के प्रचार में व्यस्त हैं. वे इसे सफल बनाने में कोई कसर नहीं...

पिता का महंगी बाइक नहीं दिलाना बेटे को गुजरा नागवार, आधी रात को घर में लगाई फांसी

(श्रीराम पुरी) सिमडेगा. किसी चीज की जिद इंसान को कहां पहुंचा देता है इसका उदाहरण झारखंड के सिमडेगा (Simdega) में देखने को मिला है. यहां...

Recent Comments