fbpx
Thursday, July 7, 2022
Home Religious Yogini Ekadashi 2022 Katha , Kahani : आज योगिनी एकादशी पर जरूर...

Yogini Ekadashi 2022 Katha , Kahani : आज योगिनी एकादशी पर जरूर सुनें या पढ़ें ये व्रत कथा


आज योगिनी एकादशी व्रत है। एकादशी तिथि भगवान विष्णु को अतिप्रिय होती है। इस दिन विधि- विधान से भगवान विष्णु की पूजा- अर्चना की जाती है। भगवान विष्णु की पूजा करने से सभी मनोकामनाएं पूरी हो जाती हैं। हिंदू धर्म में एकादशी तिथि का बहुत अधिक महत्व होता है। हर माह में दो बार एकादशी तिथि पड़ती है। एक कृष्ण पक्ष में और एक शुक्ल पक्ष में। साल में कुल 24 एकादशी पड़ती हैं। आषाढ़ माह के कृष्ण पक्ष में पड़ने वाली एकादशी को योगिनी एकादशी के नाम से जाना जाता है। एकादशी के दिन व्रत कथा का पाठ अवश्य करना चाहिए। जो लोग पाठ नहीं कर सकते हैं उन्हें एकादशी कथा सुननी चाहिए।

Yogini Ekadashi 2022 Katha , Kahani : 

प्राचीन काल में अलकापुरी नगर में राजा कुबेर के यहां हेम नाम का एक माली रहता था। उसका काम हर दिन भगवान शिव के पूजन के लिए मानसरोवर से पुष्प लाना था। एक दिन उसे अपनी पत्नी के साथ स्वछन्द विहार करने के कारण फूल लाने में बहुत देर हो गई। वह दरबार में देरी से पहुंचा।

इस बात से क्रोधित होकर कुबेर ने उसे कोढ़ी होने का श्राप दे दिया। श्राप के प्रभाव से हेम माली इधर-उधर भटकता रहा और एक दिन दैवयोग से मार्कण्डेय ऋषि के आश्रम में जा पहुंचा। ऋषि ने अपने योग बल से उसके दुखी होने का कारण जान लिया। तब उन्होंने उसे योगिनी एकादशी का व्रत करने को कहा। व्रत के प्रभाव से हेम माली का कोढ़ समाप्त हो गया और उसे मोक्ष की प्राप्ति हुई।

Guru Vakri 2022: शनि के बाद अब गुरु होंगे वक्री, इन राशियों को लाभ ही लाभ

एकादशी पूजा- विधि : 

  • सुबह जल्दी उठकर स्नान आदि से निवृत्त हो जाएं।
  • घर के मंदिर में दीप प्रज्वलित करें।
  • भगवान विष्णु का गंगा जल से अभिषेक करें।
  • भगवान विष्णु को पुष्प और तुलसी दल अर्पित करें।
  • अगर संभव हो तो इस दिन व्रत भी रखें।
  • भगवान की आरती करें। 
  • भगवान को भोग लगाएं। इस बात का विशेष ध्यान रखें कि भगवान को सिर्फ सात्विक चीजों का भोग लगाया जाता है। भगवान विष्णु के भोग में तुलसी को जरूर शामिल करें। ऐसा माना जाता है कि बिना तुलसी के भगवान विष्णु भोग ग्रहण नहीं करते हैं। 
  • इस पावन दिन भगवान विष्णु के साथ ही माता लक्ष्मी की पूजा भी करें। 
  • इस दिन भगवान का अधिक से अधिक ध्यान करें।



Source link

RELATED ARTICLES

मन को शुद्ध करता है और असाध्य रोगों से मुक्ति दिलाता है यह पावन व्रत 

मन को शुद्ध और असाध्य रोगों से मुक्ति दिलाने वाला आशा दशमी व्रत बहुत पावन व्रत माना जाता है। इस व्रत को आरोग्य...

Lucky Numbers of 8 July : इन तारीखों में जन्मे लोग 8 जुलाई को मनाएंगे जश्न, दांपत्य जीवन रहेगा सुखमय

ज्योतिषशास्त्र की तरह अंक ज्योतिष से भी जातक के भविष्य, स्वभाव और व्यक्तित्व का पता लगता है। जिस तरह हर नाम के अनुसार...

Numerology Horoscope: 8 जुलाई को इन राशि में जन्मे लोगों की आर्थिक उन्नति, खुशनुमा रहेगा दिन

Numerology Horoscope 8 July 2022 : ज्योतिषशास्त्र की तरह अंक ज्योतिष से भी जातक के भविष्य, स्वभाव और व्यक्तित्व का पता लगता है। जिस तरह...

Thanks to Support using this Blog site.

Most Popular

शरीर में रिजर्व एनर्जी का सोर्स है एड्रेनालाईन हार्मोन, आफत आने पर ऐसे करता है काम

Function of the Adrenaline Hormone: एड्रेनालाईन आपके शरीर में मौजूद एक हार्मोन है, जो शरीर में किडनी के ऊपरी हिस्से में मौजूद होता...

राकेश झुनझुनवाला को टाइटन के शेयरों ने 1 दिन में कराई 600 करोड़ से ज्यादा की कमाई

टाटा ग्रुप के एक शेयर ने दिग्गज इनवेस्टर राकेश झुनझुनवाला को तगड़ी कमाई कराई है। यह स्टॉक टाइटन (Titan Company) का है। टाइटन...

Recent Comments